चित्तौड़गढ़

राजस्थान के आगामी वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में शामिल करने हेतु नेशनल यूथ अवार्डी ,पर्यावरण मित्र दिव्या कुमारी जैन ने माननीय मुख्यमंत्री जी के समक्ष रखे सुझाव

राजस्थान के आगामी वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में शामिल करने हेतु नेशनल यूथ अवार्डी ,पर्यावरण मित्र दिव्या कुमारी जैन ने माननीय मुख्यमंत्री जी के समक्ष रखे सुझाव ,

चित्तौड़गढ़ पर्यावरण संरक्षण व सामाजिक चेतना का अभियान चला रही पर्यावरण मित्र ,नेशनल यूथ अवार्डी दिव्या कुमारी जैन को राजस्थान सरकार के आगामी वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट के लिए बजट पूर्व आयोजित तैयारी बैठक में युवा प्रतिनिधि के रूप में आमंत्रित किया गया था ।
शनिवार शाम को आयोजित बैठक में दिव्या कुमारी जैन ने माननीय मुख्यमंत्री का जय जिनेन्द्र से अभिवादन कर गत वर्षो में दिए गए उसके सुझाओ को बजट में शामिल करने एवं उसे 2022-23 के बजट में सुझाव हेतु आमंत्रित करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया तथा आगामी बजट में शामिल करने हेतु सुझाव रखे जिनमें प्रमुख ये थे-
युवाओं को विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं के लिए कुटीर उद्योग धंधों को बढ़ावा देना व उसके लिए आवश्यकता अनुसार कच्ची सामग्री उपलब्ध कराना । जैसे-
मिट्टी,लकड़ी,सब्जियों फलों से सम्बंधित,व सिलाई,बुनाई कढ़ाई आदि ।

ऐसे युवा जिन्होंने विशेष क्षेत्रो में अपने व अपने जिले का मान बढ़ाया है । जैसे-खिलाड़ी,कलाकार,नेशनल यूथ अवार्डी आदि उन्हें राजस्थान की फ्लैगशिप योजनाओं में ब्रांड अम्बेसडर नियुक्त किया जाकर उनके अनुभवों को प्रमुखता दी जाए

कोटा की ही तर्ज पर ऐतिहासिक नगरी चित्तौड़गढ़ की गम्भीरी व बेड़च नदियों का सौंदर्यीकरण व रिवर फ्रंट का कार्य,इससे पर्यटन के साथ युवाओं को रोजगार भी मिलेगा ।

प्रतिभाओं का पलायन न हो इस हेतु शैक्षिक नगरी कोटा अथवा हाड़ौती में आई आई टी,अथवा एन आई टी खुले इस हेतु प्रयास ।

राजकीय विद्यालय में अध्ययन रत बच्चो के लिए यूनिफार्म के साथ ही जूते,मोजे व टाई भी उपलब्ध करवाई जाए । इस हेतु बजट में प्रावधान

ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन व उनसे सम्बंधित व्यवसाय के लिए प्रशिक्षण व सहायता उपलब्ध करवाई जाए

युवाओं के लिए स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा दिया जाकर उन्हें स्वरोजगार से जोड़ा जाए ।

रेनवाटर हार्वेस्टिंग में जो सरकारी स्तर पर बने है उनके समय समय पर रिपेयरिंग का प्रावधान ।

पॉलीथिन पर प्रभावी प्रतिबंध के साथ वर्ष में एक दिन नो पॉलीथिन डे घोषित किया जाए( 1 अगस्त को)

इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी बढाई जाए । इससे पेट्रोल पर निर्भरता घटेगी व पर्यावरण प्रदूषण भी घटेगा ।

वनों को बढ़ावा देने के साथ,पेड़ो का संरक्षण,रासायनिक इकाइयों से निकलने वाले कचरे की रिसाइक्लिंग ,वायु प्रदूषण पर कार्य ।। एवं अन्य बिंदुओं को बजट में शामिल करने के लिए माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी बात रखी । दिव्या ने अंत मे माननीय मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया माननीय मुख्यमंत्री द्वारा भी नमस्ते कहकर धन्यवाद दिया ।

Related Articles

Back to top button